क्यों बढ़ जाती है महिलाओं की सेक्स की इच्छा पीरियड्स के समय

मोनिका अग्रवाल

21st February 2021

पीरियड्स के दौरान महिलाओं में सेक्स करने की उत्तेजना सामान्य दिनों से ज्यादा होती है क्योंकि उस समय महिलाओं के हारमोंस में कई सारे बदलाव देकर जाते हैं

क्यों बढ़ जाती है महिलाओं  की सेक्स की इच्छा पीरियड्स के समय
पीरियड्स के दौरान महिलाओं में हार्मोनल चेंज होने की वजह से उनके स्वभाव में भी कुछ बदलाव देखे जा सकते हैं। क्योंकि उस समय महिलाओं के हारमोंस में कुछ बदलाव होने से उनके सेक्स अपीलिंग को और तेज कर देता है। हालांकि, मासिक प्रक्रिया के दौरान इंटीमेट होना कुछ हदतक सही माना जाता है और कुछ हदतक इसमे सावधानियां भी बरतनी जरूरी है। सेक्स एक प्राकृतिक फीलिंग है जिस पर  व्यक्ति का नियंत्रण होना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। कुछ लोगों का भ्रम है कि मंथली सर्कल के समय इंटीमेट नहीं होना चाहिए क्योंकि इससे शरीर में कमजोरी आती है। लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि अगर स्वास्थ मजबूत है तो इसे एंजॉय किया जा सकता है। हालांकि, ये इच्छा प्रत्येक महिलाओं में एक समान नहीं होती है, कुछ में इसके अलग लक्षण पाए जाते हैं। बढ़ती सेक्स करने की इच्छा -उनके पीरियड्स साइकल यानी मासिक चक्र के साथ डीपली रिलेशन है। महिलाओं  की यौन इच्छा हरदिन एक समान नहीं होती। महिलाओं के बदलते हॉर्मोन ही ये निश्चित करते हैं कि उनकी इंटीमेट होने की इच्छा है या नहीं  है। 
वहीं  जब महिलाएं  गर्भधारण के लिए तैयार होती हैं तो उनके अंदर इंटिमेसी की इच्छा बढ़ जाती है। पीरियड के  पहले और पीरियड के दौरान स्त्रियों के शरीर में  हॉर्मोनल बदलाव देखे जाते हैं, जो उनकी यौन इच्छा को और प्रबल कर देते हैं। सेक्स अपीलिंग की एक और वजह है वो ये कि पीरियड्स के समय प्राकृतिक ल्यूब्रिकेंट होता है। उस समय प्राकृतिक द्वार ल्यूब्रिकेटेड हो जाता है।जिससे कि इंटिमेसी प्रोसेस को  और ज्यादा बढ़ा देती है। लेकिन इन सबके बावजूद इस बात को समझना जरूरी है कि सभी स्त्रियों में यह इच्छा एकसमान नहीं होती है। हॉर्मोनल वजह होने के बाद भी यह जरूरी नहीं कि सभी स्त्रियों को मासिक चक्र के पहले और बाद में सेक्स की ज्यादा जरूरत महसूस हो. हर स्त्री का शरीर, उसका हॉर्मोनल उतार-चढ़ाव अलग होता है कि इस तरह उसकी जरूरतें भी अलग होती हैं।

आम दिनों की तुलना में उत्तेजना अधिक

आमतौर पर जिस्मानी जरूरतों को लेकर महिलाओं में काफी चेंजमेंट और संकोच होता है पर हर माह पीरियड के दौरान महिलाये आम दिनों की  तुलना में  सेक्स को लेकर काफी उत्साहित होती है।  महिलाओं में इंटिमेसी खासकर भारतीय महिलाओं की बात करें तो पारिवारिक और सामाजिक रूप से महिलाओं में सेक्स को लेकर अलग अलग व्याख्या होती है। 
 हर माह पीरियड्स के दौरान महिलओं के मूड तेजी से बदलते है। इसके पीछे महिलाओ में लिबिडो चेंज यानी सेक्स के प्रति इच्छा और पीरियड साइकल किस तरह का है, इस बात पर निर्भर करता है कि पीरियड्स में सेक्स की इच्छा कैसी होगी। बावजूद इसके बहुत सी महिलाएं ऐसी हैं जिन्हें पीरियड्स के दौरान आम दिनों की तुलना में ज्यादा उत्तेजना महसूस होती है।

सेक्स ड्राइव

सेक्स ड्राइव
पीरियड्स के दौरान ब्लड फ्लो जितना ज्यादा होगा सेक्स करने में उतना ही मजा आता है। हालांकि ऐसा साईंटिफिक कोई प्रमाण नहीं है। एक बात और मासिक धर्म अगर प्रॉपर नहीं हो रहा है तो आप अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें जिससे आप समय रहते इसका निदान कर सकें।

यह भी पढ़ें-

क्या आप सौंदर्य प्रतियोगिता जीतना चाहती हैं तो अपनाइए यह 10 टिप्स

 महिलाओं में चिंता, तनाव या स्ट्रेस 

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन यानि की  यूटीआई 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

महिलाएं पीरि...

महिलाएं पीरियड्स के समय चिड़चिड़ापन क्यों...

क्यों बच्चे ...

क्यों बच्चे के जन्म के बाद कम हो जाती है...

पीरियड ज्याद...

पीरियड ज्यादा दिन तक आने के कारण

सेक्स के समय...

सेक्स के समय अजीब स्थिति

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription