यदि आपका बच्चा शर्मिला है तो अपनाएं यह कुछ टिप्स

मोनिका अग्रवाल

27th January 2021

अगर आपका बच्चा शर्मिला है, तो ये कोई निगेटिव बात नहीं है, आप उसे अपने तरीके से सम्भाल सकते हैं जिससे बच्चे के इस स्वभाव में कुछ बदलाव हो सके।

यदि आपका बच्चा शर्मिला है तो अपनाएं यह कुछ टिप्स

आपका बच्चा शर्मिला है तो अपनाएं यह टिप्स

हर बच्चा अपने आप में अलग होता है। ठीक उसी तरह बच्चों के स्वभाव भी एक दूसरे से काफी अलग होते हैं। जिसमें से एक स्वभाव है शर्माने का। बच्चों का शर्मीलापन अक्सर तब सामने आता है जब, कोई मेहमान आपके घर पर आता है। स्वभाव से शर्मीले बच्चे सामने वाले के सामान्य सवालों के जवाब देने से भी डरते हैं या यूं कहें कि वो कतराते हैं। जिससे पैरेंट्स को भी कभी कभी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। पैरेंट्स अपनी सूझ-बुझ और समझदारी से अपने बच्चों की लाइफस्टाइल और आदतों में कुछ बदलाव कर सकते हैं, जिससे उनकी ये समस्या कम हो सके। हालांकि ये स्वभाव होना बच्चों में बेहद आम बात है, जिसके लिए अभिभावकों की चिंता जायज भी है। आप बच्चों की इस आदत को धीरे-धीरे बदलने में उनकी मदद कर सकते हैं। और वो कैसे करना है उसके लिए आपकी मदद करेगा हमारा ये खास लेख।

1. उसे कहने दें अपनी बात- जब भी कोई बच्चा अपने पेरेंट्स से बात करता है तो अकसर माता-पिता उन्हें बीच में ही चुप करा देते हैं। ऐसे में वो अपनी बात नहीं कह पाते। ऐसे कई कारण होते हैं जिनके डर की वजह से बच्चों में शर्मीलेपन का स्वभाव पनपने लगता है। याद रखें कि जब आपका बच्चा अपनी बात कहता हैं तो वो अपने भावनाएं भी व्यक्त करता है।आप उकी बात को तवज्जो दें और उसे अपनी बात कहने का पूरा मौका दें।

आपका बच्चा शर्मिला है तो अपनाएं यह कुछ टिप्स

2. बच्चे को करें प्रोत्साहित- हर बच्चे को तब सबसे ज्यादा ख़ुशी होती है, जब उसके पैरेंट्स किसी दूसरे के सामने उसकी तारीफ करते हैं। आप अगर किसी गैदरिंग में है तो ओने बच्चे उपलब्धियों की जमकर तारीफ करें। ऐसा करने से आपके बच्चे को अहसास होगा कि इस्तनी भीड़ में भी आप उसे सबसे खास बना रहे हैं। साथ ही अपने बच्चे को इस बात का एहसास दिलाएं की दूसरे बच्चों एकागे उसमें कोई भी कमी नहीं है। उसे कभी भी नीचा ना दिखाएं।

3. बच्चों पर ना लगाएं शर्मिला का ठप्पा- जी हां अगर आपका बच्चा शर्माता है तो उन्हें बार-बार इस बात का ताना ना मारें। इसकी वजह से आपके बच्चा गहरे तनाव में जा सकता है। अगर आप दूसरों के सामने उसे शर्मिला कह कर बुलाएंगे तो उसे बुरा लग सकता है और उकस मनोबल टूट सकता है।

4. बच्चों का बार-बार ना डांटे- अक्सर बच्चे बाहर वालों के सामने नहीं जाते और शर्माते है। तो आप उन्हें इस बात पर बिलकुल भी ना डांटे। आप जब भी इस स्थिति में हो तो इस बात को नजरअंदाज कर दें। आप किसी बाहर वाले के सामने उसे शर्मिला ना बुलाएं। आप कुछ ऐसी स्थिति बनाएं जिससे आपका बच्चा मेहमानों के साथ घुल मिल सके।

5. स्टेज में बोलने का दें मौका- स्टेज में बोलना काफी बड़ी बात होती है। लेकिन अगर अपने एक बात स्टेज की आदत डाली तो आपकी शर्म भी खत्म होने लगती है। आप इसकी शुरुआत अपने घर से कर सकते हैं। आप स्टेज अपने घर में बनाएं और बच्चे को स्टेज में स्पीच बोलने की आदत डालें।

6. अपने घर में एक स्टेज बनाएं : पारीवारिक समय शर्मीले बच्चे के परवरिश का सबसे अच्छा समय होता है। अपने बच्चे को परिवार के सामने कोई कविता या फिर स्पीच देने के लिए कहें। इससे उनके अंदर भीड़ का सामना करने का आत्मविश्वास आएगा। ये एक बहुत ही असरदार पेरेंटिंग टिप्स है।

7. बच्चों में शर्मीलेपन के क्या हैं कारण?- देखा जाए तो बच्चों में यह स्वभाव कुछ वजहों से पनपने लगता है। ये वजह क्या हैं ये माता-पिता को जरुर जानने चाहिए।

• अगर आपके बच्चे में समाजिकता नहीं है तो वो शर्मिला व्यवहार करता है।

• अगर पैरेंट्स शर्मीले हैं तो बच्चों में भी यही आदत आती है।

• रिश्तेदारों के सामने बुरानी करने से भी ये आदत आ जाती है।

• जब बच्चे अपनी भावनाएं व्यक्त नहीं कर पाते।

• जब बच्चे किसी गैदरिंग का हिस्सा नहीं बनते।

तो ये कुछ ऐसे कारण हैं, जिनकी वजह से बच्चों में शर्मिलापन आ जाता है। ऐसे में माता-पिता हमारी बताई हुई टिप्स का ख्याल रखेंगे तो बच्चों का मनोबल भी बढ़ेगा और श

र्मिलापन भी धीरे धीरे खत्म होगा।

यह भी पढ़ें-

बच्चों में आपसी ईर्ष्या क्यों

टीन एजर्स और फ्रीडम

बच्चों के लिए कुछ बातें जानना है जरूरी, जानें

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कहीं आपका बच...

कहीं आपका बच्चा झगड़ालू तो नहीं

कैसे पता करे...

कैसे पता करें कि आप का बच्चा बुलिंग का शिकार...

किशोर और COV...

किशोर और COVID-19: चुनौतियां और अवसर

टीन एजर्स और...

टीन एजर्स और फ्रीडम

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

कोरोना काल म...

कोरोना काल में आज...

शक्ति का नाम नारी, धैर्य, ममता की पूरक एवम्‌ समस्त...

मनी कंट्रोल:...

मनी कंट्रोल: बचत...

बचत करना जरूरी है लेकिन खर्च भी बहुत जरूरी है। तो बात...

संपादक की पसंद

कोलेस्ट्रॉल ...

कोलेस्ट्रॉल कम करने...

कोलेस्ट्रॉल कम करने के आसान तरीके

सिर्फ एक दिन...

सिर्फ एक दिन में...

एक दिन में कोई शहर घूमना हो तो आप कौन सा शहर घूमना...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription